Sunday, December 8, 2019

    Rani Jaiswal Bewafa 
    ज़िन्दगी के हर मोड़ पे सबको हँसाता चला गया
    रिश्ते जैसे भी हो सबको निभाता चला गया
    आज देखा हिसाब अपने हिस्से का
    दुसरो के लिए मैं कई किरदार निभाता चला गया
    सोचा था कोई तो होगा जो मुझे समझेगा
    इस कोई के इंतज़ार में कई आंसू बहता चला गया
    अब आलम ये है मेरी बेबशी का
    मुझे तो सब भूल गए
    लेकिन मैं सबको अपनी यादो की डायरी में बसता चला गया
    सुना है उन दोस्तों में कभी कभी ज़िक्र मेरी भी होती है
    इस बात से खुद को दिलासा दिलाता चला गया
    मैं तो बहरुपया हूँ जीवन के इस रंगमंच का
    जो एक नयी कहानी बनाता चला गया
    मुझे भूल तो जाओगे लेकिन मेरी कहानी हर बार दोहराओगे
    मैं अपने इतने किरदार बनता चला गया
    जो समझ गया मुझे वो खुद को समझ जायेगा
    जीवन के इतने आयाम अपनी कहानी में सुनाता चला गया

    ज़िन्दगी के हर मोड़ पे - Breakup Motivational Poem 

    Category: articles
    कहते है प्यार हर किसी को होता है किसी को सच्चा तो किसी को बस टाइम पास लेकिन आज की कहानी किसी की सच्ची प्रेम कहानी है जिससे सबको सीखना चाहिए की सपनो की रानी को सपनो में ही रहने देना चाहिए ।

     Love Aaj Ka - True Story (सपनो की रानी और सच)      

    कोई था जिसे बच्चपन से ही अपने सपनो की रानी का तलाश था । वो हर पल उसके ही सपने देखता ,उसे आस पास लोगो के चेहरे में ढूंढता लेकिन सपने सच थोड़ी न होते है । पर उसे विश्वास था एक दिन वो अपने सपनो की रानी से मिलेगा उससे ढेर सारी बाते करेगा , उसके साथ घूमेगा , आइसक्रीम खायेगा , डांस करेगा , मूवीज देखेगा और उसे अपनी दिल की रानी बना के रक्खेगा । लेकिन सपनो की रानी को वो इम्प्रेस कैसे करेगा ? शायद हीरो बन के ... हा हा ... बहुत नादान था वो इसलिए अपनी Dream Girl के लिए उसने अपने आप को हीरो बना के रक्खा । लोगो की हेल्प करना, खुशिया बाटना , दोस्तों को हमेशा खुश रक्खना उसकी आदत सी बन गई थी । वो हमेशा हँसता रहता और दुसरो को हँसाता रहता था । 

    उसके लाइफ में उसकी सपनो की रानी भी आई उस दिन वो बहुत खुश था....

    लेकिन आखिर उसके साथ ऐसा क्या हुआ जो वो अपने सपनो को भूल गया आज 20 साल बाद ये वो विक्की नहीं था जो दोस्तों की शान हुआ करता था । आज उसे प्यार के नाम से भी नफरत हो गयी थी, सपनो की रानी को वो भूल चूका था और अपने आप में ही सिमट गया था। 

    Category: articles

    Monday, May 20, 2019

    Latest Best sms in hindi, Best hindi sms, new hindi sms, funny hindi sms, Best hindi sms collection for your best friends and whatsapp friends..

    Best SMS in Hindi 


    Tujhe Jiski Talash Hai
    wo Raaz Hu Main
    Dekh To sahi Tere Dil K Paas Hu Main
    Jiske Bina Tu Jee Nahi Sakti
    Tere Dhadkan Ki Wo Aawaz Hu Main ...

    Tumne kaha to main Tumhari Nahi Ho sakti
    To maine apna Rasta Badal Liya 
    khawab Jo Dekhe The Usse Bhi Kinara Kar liya
    Or Kya Sabut deta Tumhe apne pyaar ka
    waqht ne jaisa chaha maine waisa kr diya

    Kisi ke chale jane se kuch nahi hota, Agar Yaad hi rakhna hai
    to wo pal yaad rakhna jab tum meri wajah se Muskurate the ..
    Jeewan ke har mod pe ek nayi kahani banti hai
    Us kahani ke ant me main Chala Jarur Jata Hu
    Lekin Jab bhi yaad Karo wo pal To lagega
    ki main Khushiyo ke pal De Jata Hu...

    Mana Chehra Khubsurat hai tera
    Par Dill jo itna kala hai
    are tu kya Mujhe Chod ke jayegi
    ab maine Tujhe Is Dill se nikala hai
    jis hath ko umr bhar ke liye thamu
    Tera wo hath nahi
    are tu kya mujhe rulayegi
    teri itni aukaat nahi 
    Category: articles

    Friday, April 5, 2019

    मुश्किल सफर - Motivational Story 

    मुश्किल सफर - Motivational Story 



    दोस्तों कहते हैं की सफर चाहे कितना भी मुस्किल हो सफलता हमेशा मिलती है भले ही रास्ते की दूरी बहुत ज्यादा हो !
    दोस्तों आज हम इसी तरह की एक कहानी पढ़ने जा रहे हैं जिसमे एक महिला अपने मुस्किल हालातों मे अपनी ज़िंदगी काटने के लिए क्या सफर करती है |
    एक शहर मे मनीष नाम का एक लड़का रहता था वह एक कारखाने मे सिलाई का काम करता था कुछ साल बाद उसकी शादी हो गई उनकी पत्नी का नाम शालू था उनको भी सिलाई का काम आता था | कुछ साल बाद मनीष और शालू मम्मी पापा बन गए उनके तीन बच्चे थे |
    Motivational Story 

    मनीष और शालू बहुत गरीब थे | वो घर का गुजारा बहुत मुश्किल से करते थे |
    कुछ साल बाद मनीष को शराब की लत लग गई वह इतना शराब पीने लगा की उसको होश भी नहीं रहता था की वह अभी कहाँ है किस हाल मे है |
    कई बार वह लोगों के साथ मार पीट कर लेता और जेल की हवा खाता |
    जेल 

    कुछ दिन बाद मनीष का Accsident हो गया और शालू विधवा हो गई और घर का गुजारा नहीं हो पा रहा था इसलिए शालू परेशान हो गई उनके एक पड़ोसी ने उनकी  बहुत मदद की उनको भर पेट खाना खिलाते |
    पड़ोसी ने शालू को सिलाई का काम करने का सुझाव दिया | पड़ोसी के पास एक छोटा सा बंद पड़ा दुकान था
    पड़ोसी ने वह दुकान शालू को दे दिया | शालू और पैसे मँगने के लिए अपने भाई के पास गई उन्होंने शालू को पैसे दिए जिससे शालू सिलाई मशीन और बाकी समान खरीद सके | शालू ने अपने भाई को कहा की वह सारे पैसे ब्याज सहित चुकाने का वादा किया |
    शालू ने सिलाई के दुकान को स्टार्ट किया जैसे की - फटे पुराने कपड़े , कपड़ों पे बटन , कपड़ों को fit करना आदि काम करने लगी | शालू की दुकान 1 हफ्ते मे ज्यादा नहीं चल रहा था उसके दूसरे हफ्ते मे ईश्वर ने चमत्कार कर दिया इतने ज्यादा ग्राहक आने लगे की उनका दुकान कभी खाली नहीं रहता था |
    धीरे धीरे भी उनके बच्चे भी काम करने लगे जिससे शालू ने जीतने पैसे अपने भाई से लिए थे उनको ब्याज सहित चुका दिया |
    इस तरह से ज़िंदगी का सफर कठिन होने के बावजूद वह उस रास्ते पे सफर कर पाई और अपने ज़िंदगी को साकार किया |

    दोस्तों ये story कैसे लगी comment करके जरूर बताए
    और ऐसे कहानी और पढ़ने के लिए Blog पे बने रहिए |
    Category: articles

    Tuesday, April 2, 2019


    New love story in Hindi 

    वो प्यार था मेरा सच्चा

    दोस्तों कहते हैं की दोस्ती और प्यार के बीच मे हमें भेदभाव नहीं करना चाहिए | लेकिन अगर क्या होगा जब दोनों दोस्त भी एक ही लड़की से प्यार करता हो और Breakup के बाद एक दोस्त तो उसका छोड़ देगा लेकिन उसका दूसरा दोस्त उससे अब भी प्यार करता है |
    दोस्तों आप इसी तरह की कहानी आप सुनने जा रहे हैं |
    तो चलो देखतें है क्या होगा आगे ?

    स्कूल Admisson Start हो रहा था दूसरे दिन एक लड़के ने 11th Class में Admisson लिया | उस लड़के का नाम अर्जुन था उसके कुछ दिन पहले एक राकेश नाम के लड़के ने Admisson लिया | उनके बीच अभी दोस्ती नहीं थी | जब Section Divide हुआ तब दोनों लड़के एक ही Table पे बैठते थे |
    पहले दिन दोनों के बीच मे टकरार हुआ क्युकी दोनों एक दूसरे को गलत समझ रहे थे |
    फिर अर्जुन ने बाकी पीछे बैठे दोस्तों से बात चित चालू कर दिया जिससे राकेश को भी बात करने की इच्छा हुई |
    फिर दोनों ने खुल के बात किया वो दोनों Best  Freind बन गए |

    अब ये दोनों एक दूसरे की हर बात को बताते थे | अर्जुन की अभी तक से एक भी GirlFreind नहीं थी जब की राकेश की 8th Class से ही एक GirlFreind थी जिनका नाम सोनिया था जिसको राकेश छोड़ना चाहता था क्युकी उसका कास्ट अलग था जिसको राकेश पसंद नहीं करता था | अब 11th Class आने के बाद राकेश और सोनिया अलग अलग हो गए क्युकी वो दोनों अलग अलग School मे पढ़ते थे अब ये मान के चलिए की उनका Breakup हो गया था |
    राकेश और अर्जुन दोनों के बीच मे गहरी दोस्ती थी वो Class  की किसी भी लड़कियों से बात नहीं करते थे |
    एक दिन अर्जुन ने एक रिया नाम की लड़की को देखा जो बहुत ही Cute थी लेकिन उसके मन मे उसके लिए उतना Feeling नहीं आया उसके बाद राकेश और अर्जुन दोनों की बात चित रिया से होने लगा | रिया राकेश को बहुत पसंद करती थी ये बात पहले से अर्जुन को पता था क्युकी
    उसके बात करने का तरीका और चहरे का Impression अर्जुन अच्छी तरह से पहचान गया |
    अर्जुन एक दिन राकेश को कुछ बोल -

    अर्जुन - राकेश भाई मैं एक बात बोलूँ ?

    राकेश - हाँ ....बोल ?

    अर्जुन - मैं Sure नहीं हूँ But रिया शायद तुमसे प्यार करती है !

    राकेश -  क्या बोला ?

    अर्जुन - मतलब Like करती  है  !

    राकेश - पागल हो गया है क्या तुझे कैसे पता ?

    अर्जुन - नहीं यार पागल नहीं हुआ हूँ ! रुक जा एक काम कर तुझे Proof चाहिए न |

    राकेश - हाँ !

    अर्जुन - राकेश भाई तू आज छुट्टी के समय उससे हाथ मिला दोस्ती कर |

    राकेश बहुत मुस्किल से मानता है | छुट्टी के समय वह हाथ मिलने मे हिचकिचाता है लेकिन हाथ मिलता है |
    रिया जाते समय अर्जुन से भी हाथ मिलाती है | अर्जुन से कोई भी लड़की आज तक हाथ नहीं मिलाई थी ! इसलिए उसे थोड़ा अच्छा लगा |


    अब अर्जुन ने रिया की हरकतों से पता लगा लिया की रिया राकेश से प्यार करती है | क्युकी रिया ने राकेश का मोबाईल नंबर मांगी राकेश इतना अच्छा था की वह अर्जुन से पूछा भी की क्या मैं उसे नंबर दूँ |
    फिर उसने रिया को नंबर दे दिया |
    प्यार वाली बात अर्जुन ने राकेश को बताया फिर राकेश को एक सलाह दिया |


    अर्जुन - भाई तू उसे Propose कर दे !
    राकेश - नहीं भाई डर लगता है अगर वो सामने से करेगी तब बोलूँगा |
    अर्जुन - भाई एक काम कर  तू उसको फोन मे ये बोलना
    की - "तू चाहती क्या है ? बोल न , तेरे दिल मे जो कुछ है बात दे आज Please !"
    फिर राकेश को रिया ने फोन पे Propose कर दिया |
    राकेश School मे भी अच्छे से बात करता था दोनों के बीच प्यार बढ़ रहा था | राकेश स्कूल की पढ़ाई मे भी उसकी मदद करता था | राकेश स्कूल का Topper था |
    रिया पढ़ाई मे उतनी अच्छी नहीं थी |
    इधर धीरे धीरे अर्जुन को भी रिया से प्यार होता गया क्यूंकी उसकी कोई Girlfreind नहीं थी और राकेश और रिया के साथ भी अर्जुन बैठता था रिया की आदाओं और बातों से उसे भी प्यार होने लगा |

    स्कूल का Exam खतम हो गया ! Summer Vacation चालू हो गया | राकेश तो रिया से फोन पे बात करता था लेकिन अर्जुन बेचारा उसके पास रिया का नंबर नहीं था इसलिए उसको अच्छा नहीं लागत था क्यूंकी राकेश और रिया और अर्जुन का घर अलग अलग जगह था |


    अर्जुन Youtube पे Videos डालता था ताकि आने वाले दिनों मे वो कुछ कर सके लेकिन वो उतना Success नहीं हुआ |

    एक दिन राकेश और रिया दोनों फोन पे बात कर रहे थे अचानक से अर्जुन ने राकेश के नंबर पे Call किया तीनों  Confrence मे थे | अर्जुन ने राकेश को फोन रखने को कहा ! अर्जुन ने राकेश से रिया का नंबर मांग लिया |

    अर्जुन दोपहर मे रिया से बहुत बात किया और शाम को रिया को Call करने को कहा |
    इस तरह रिया और अर्जुन की दोस्ती बढ़ती गई | अर्जुन का प्यार बढ़ता जा रहा था | एक दिन अर्जुन एक शादी मे गया था वहाँ लगभग उसके सभी दोस्तों के पास Girlfreind थी तो उसने रिया से Call मे उसी वक्त बात किया -

    अर्जुन - रिया मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ !
    रिया - बोल न तो !
    अर्जुन - बोल नहीं पा रहा हूँ |
    रिया - बोल न यार क्या बात है |
    अर्जुन- sms कर रहा हूँ !
    अर्जुन ने रिया को "I Love Yousms किया |
    रिया ने अर्जुन को Call मे कहा - "Sorry यार लेकिन मैं तुमसे प्यार नहीं कर सकती ,ऐसा नहीं हो सकता"
    अर्जुन का दिल वही टूट गया |
    फिर भी रिया को लगता था की वो उससे अब कभी बात नहीं करेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ अर्जुन और ज्यादा उससे बात करने लगा और हमेशा मुसकुराता रहा |
    क्युकी उसका प्यार सच्चा था |

    ये बात एक दिन राकेश को रिया ने बात दिया उसके बाद
    राकेश से अर्जुन Sorry बोल क्युकी उसने राकेश को ये बात बताई ही नहीं थी | रिया ने अर्जुन से वादा किया था की ये बात राकेश को नहीं बताऊँगी लेकिन उसने वादा तोड़ दिया इसलिए अर्जुन ने रिया को गाली दे दिया |
    गाली सुनकर रिया नाराज हो गई अर्जुन को उसने Block कर दिया इसलिए अब उससे बात नहीं कर पा रहा था |
    लेकिन राकेश की वजह से Unblock हो गया |
    और अब अच्छी से बात नहीं हो पा रही थी क्यूंकी अर्जुन को उसने कभी माफ ही नहीं किया |
    अर्जुन आज तक किसी भी लड़की को गाली नहीं दिया बहुत पचता रहा था |

    अब राकेश का Study Loss होता जा रहा था इससे राकेश का Result बहुत खराब आया था | राकेश को रिया के लिए प्यार काम होता जा रहा था उसके बाद उसने रिया से Breakup कर लिया |
     जिससे रिया बहुत रोना चालू कर दी इस मुस्किल हालात मे उससे सच्चा प्यार करने वाला अर्जुन ही उसको मनाने  लगा और बहुत अच्छी अच्छी बात बताने लगा |

    रिया ने उसके बात पर ध्यान देना चालू कर दी | रिया उसकी बातों को पसंद करने लगी | लेकिन अर्जुन अब कर भी क्या सकता था क्युकी वो उससे प्यार नहीं करती थी अब राकेश ने अर्जुन को उससे बात करने को नहीं कहा |
    अर्जुन को रिया के बिना अच्छा नहीं लग रहा था अब रिया से बात करने का उसके पास एक ही उपाय था राकेश और रिया का फिर से लव स्टोरी चालू करना वो ऐसा कर के दिखा भी दिया | राकेश और रिया के बीच फिर से प्यार चलने लगा बेचारा अर्जुन को भी कैसा कैसा कदम उठाना पड़ रहा था |

    अर्जुन ने भी रिया से बात करना चालू कर दिया |
    राकेश का Brithday था रिया ने राकेश को क्या Gift दिया था वो अर्जुन को पता नहीं था तो अर्जुन ने रिया को फोन मे पूछा -

    अर्जुन - रिया तुमने राकेश को क्या Gift दिया ?
    रिया - मैंने तो उसे Kiss दिया था |
    अर्जुन - सच्ची मे !
    रिया - हाँ !
    मालूम नहीं था की रिया ने अर्जुन को झूट क्यूँ बोला था | अर्जुन ने रिया के मुह से यह बात सुनकर बहुत दुखी हो गया | वैसे इंसान तो दुखी होगा ही जैसे की कोई लड़का किसी लड़की को पसंद करता है और उसके सामने किसी और लड़के की तारीफ करे और सामने खड़े लड़के  की बुराई करें |
    ऐसे ही हालत हमारें अर्जुन भाई की थी |

    ये Kiss वाली बात अर्जुन ने राकेश को बताया | राकेश का दिमाक खराब हो गया क्युकी पीठ पीछे वो Kiss की बात कर रही है और आज तक उसने राकेश को एक Kiss ही नहीं दिया था |
    रिया को राकेश ने Kiss देने को कहा लेकिन रिया बहुत मुस्किल से मानी | इधर अर्जुन भाई का हालत खराब हो रहा था ऐसा जैसे आसमान से अर्जुन के ऊपर पानी की जगह पत्थर की बारिश हो रही हो !
    राकेश को जिस दिन वो kiss देने वाली थी उस दिन रिया नहीं आई ! राकेश को लगा की वो धोका दे रही है | राकेश ने फिर से Breakup कर लिया !

    अर्जुन अभी खुश था क्यूंकी Breakup के बाद भी रिया उससे बात करती थी ,अर्जुन को रिया Freind मानती थी !
    अब अर्जुन से धीरे धीरे रिया दूर जाने लगी अब अर्जुन भी पढ़ाई मे व्यस्त था इसलिए ज्यादा ध्यान नहीं दे रहा था |
    अर्जुन अब राकेश से तो बात करता था उन दोनों के दोस्ती मे कोई टकरार नहीं थी वो दोनों Best Freinds थे |
    अब अर्जुन रिया को Miss करने लगा था उससे बात करने का मन कर रहा था |
    अर्जुन जबकि उसे रोज स्कूल मे देखता था कभी कभी Whatsapp मे उससे बात हो जाती थी फिर वो Reply नहीं करती थी |
    राकेश और अर्जुन को लगता था की अब  वो किसी और लड़के के साथ है !
    दोस्तों ये बात तो अभी तक पता नहीं की रिया किसके साथ है | लेकिन मजेदार बात ये है की ये इस कहानी को हमारें Blog पर अर्जुन ने  खुद लिखा है !

    दोस्तों आपको कहानी कैसे लगी Comment करके जरूर बताना और ऐसी कहानी पढ़ने के लिए हमारें Blog   पे Active रहिए !

    Also Read :



    प्यार की बारिश - कहानी प्यार की - 1
    Category: articles

    Sunday, March 31, 2019


    Moral Story For Kids

    नदी का जादू और दो बंदर

    एक समय की बात है एक घने जंगल के बीच मे एक नदी था , नदी का पानी बहुत साफ था इसलिए जानवर उस नदी के पानी का ही सेवन करते थे | उसी जंगल मे संजु और मंजु नाम के दो बंदर थे वे  दोनों बहुत अच्छे मित्र थे |
    एक समय ऐसा आया की जंगल मे आकाल पढ़ गया जिससे नदी का पानी सुख गया जिससे जंगल के सभी जानवर मर रहे थे  |

    संजु और मंजु ने चुपके से पानी एकट्ठा किया था जिससे उनका एकट्ठा किया हुआ पानी
    सिर्फ 10 दिन ही चल फिर उनका पानी खत्म होने की वजह से दोनों मित्र पानी के लिए तरस रहे थे |
    दोनों मित्र के बीच बात चित हो रही थी -
    संजु - मंजु भाई हम दोनों कब तक प्यास मरते रहेंगे अगर हम इस जंगल मे रहेंगे तो निश्चित ही हम मर जाएंगे  |
    मंजु - भाई हम और कर भी क्या कर सकते हैं ?
    संजु - मंजु भाई एक काम करते है हम जंगल छोड़ कर कही दूसरी जंगल चले जाते हैं |
    मंजु - ठीक है चलो चले जाते हैं ?
    दो बंदर Story
    ऐसा कहते ही संजु और मंजु दोनों जंगल छोड़ कर दूसरी जंगल चले जाते हैं | लगभग 2 साल बाद संजु और मंजु  के जंगल मे भी आकाल पड़ने लगा उनको लगता है की -
    संजु - मंजु भाई चलो यहाँ भी आकाल पड़ने लगा है |
    मंजु - कहाँ जाएंगे भाई अब ?
    संजु - ऐसा करते हैं जिस जंगल से आए थे उसी जंगल मे वापस जाते हैं !
    ऐसा कहते ही वो दोनों वापस चले गए | जंगल देखते ही उन दोनों की आंखे फटी की फटी रह गई क्यूँकी 2 साल बाद जंगल कुछ जादूई बन गया था | जो नदी सुख गया था उस नदी का पानी अलग हो गया था ऐसा लग रहा था जैसे  उस जंगल मे सभी जानवर एक दम अलग हो गए थे |
    एक कछुवा दोनों बंदरों से कहता है -
    कछुवा - तुम दोनों इस जंगल के नहीं हो क्या ?
    दोनों बंदर - नहीं ?
    कछुवा अचानक से उड़ने लगा | ये देख कर बंदर चौक गए |
    कछुवा कहता है - ये जंगल जादूई बन गया है क्यूँकी इस नदी का पानी बहुत जादूई है इसको पीकर तुम भी जादूई हो जाओगे |
    ये सुन कर दोनों बंदर लालच के मारें उस नदी के पानी को पीने जा रहे थे रास्ते मे उसको एक भेड़िया मिल उसने दोनों बंदरों से कहा - ये तुम क्या करने जा रहे हो वो नदी का पानी जहर से कम नहीं है इसको पीकर मेरे दोस्त का जान चल गया |
    वो दोनों बिना डरे उस नदी का पानी पीने के लिए चले गए 
    उसके बाद रात मे दोनों बंदर अजीब हरकत करने लगें उनको कुछ अलग सा लग रहा था |
    दूसरे दिन वे हवा मे उड़ने लगे ये देख कर दोनों बंदर खुश होकर कहने लगे -
    संजु - मंजु भाई हम तो उड़ने लगे , कछुवा सही बोल रहा  था , भेड़िया झूट बोल रहा था |
    मंजु - सही कहा भाई !
    संजु - चलो आज तो हम उड़ने लग रहे है अगर हम नदी का पानी इसी तरह पीते रहे तो क्या पता हम नदी को तरह जादूई हो जाए और हम सब कर सके |
    मंजु - नहीं भाई ज्यादा लालच करना ठीक नहीं होगा |
    संजु - नहीं भाई कुछ नहीं होगा |
    मंजु चूंकि समझदार था वो संजु की बातों मे नहीं आया |
    संजु अगले दिन नदी का पानी पीकर मर गया |
    मंजु भी दर गया आखिर इसको दूसरी बार पीने से जानवर मर क्यूँ रहे हैं ?
    New Kids Story - नदी का जादू
    मंजु की मुलाकात जंगल के राजा शेरसिंग से हुई उन्होंने भी इसका कारण पता नहीं किया |
    ऐसा करते करते वह बहुत सारें जानवर से मिला फिर भी कुछ पता नहीं चला आखिर मे वह एक पेड़ पे सो गया सोते सोते मंजु कुछ "स...स.....स....स..." की आवाज आई
    उसने देखा की पेड़ के ऊपर मे एक बूढ़ा अजगर बैठ था |
    मंजु बंदर ने अजगर से कुछ बात चित की -
    मंजु - अजगर साहब आप ही कुछ बात दो इस नदी के बारें मे |
    अजगर - बेटा मंजु तुम्हें शायद नहीं  पता मेरी पत्नी मर गई है ?
    मंजु - माफ करना अजगर काका लेकिन मुझे काकी के बारें मे पता नहीं था |
    अजगर - कोई बात नहीं बेटा लेकिन मेरे पत्नी की मरने का कारण लोगों का मिलाया हुआ इस नदी मे जहर है , ये नदी जादूई हुआ करता था जिसको जितनी बार पियो उतनी बार जादूई शक्ति मिलती थी |

    मंजु - धन्यवाद काका बताने के लिए |
    मंजु ने जाकर शेरसिंग से मुलाकात कर पूरे जंगल मे उस नदी का पानी न पीने ऐलान किया |
    कुछ समय बार नदी सुख गया और बाद मे फिर से नया पानी आ गया लेकिन इस समय यह जादूई नहीं था |
    ये ठीक भी हुआ क्युकी नदी का पानी जादूई होने की वजह से जानवर आलसी हो गए थे और मर भी रहे थे |
    इस तरह मंजु और पूरे जंगल के जानवर मरने से बच गए |
    शिक्षा - कभी भी लालच करना नहीं चाहिए और सबकी मदद करनी कहिए | 

    New Hindi Moral Story For Kids :


    बचपन के वो दिन

    लाल परी और मीना

    Category: articles